नर्मदा तट पर...

Posted By Geetashree On 4:25 AM

नदी में नहाना
अपना प्रतिबिंब न हिलाना
किसी को न बताना
तुम निकले तो
कहां चली गई नदी।

                    -राजेंद्र किशोर (तार सप्तक)




कुश एक खूबसूरत ख्याल
August 11, 2008 at 7:48 AM

मनोरम स्थल..सुंदर तस्वीरे..

Sanjeet Tripathi
August 11, 2008 at 9:18 AM

तस्वीरें अच्छी है और उन पर राजेंद्र किशोर की यह पंक्तिया फब भी रही है।
आपका ब्लॉग आज पहली बार देखा।
परिचय दमदार है।
शुभकामनाएं।

Udan Tashtari
August 11, 2008 at 10:26 AM

मनभावन तस्वीरें. क्या भेडा़घाट, जबलपुर की हैं??